Sunday , 26 February 2017
Live

Society and Culture (समाज और संस्कृति)

20 हजार NGO के FCRA लाइसेंस रद्द, अब बचे सिर्फ 13 हजार

ngo

केंद्र सरकार ने देश के 20 हजार एनजीओ के एफसीआरए लाइसेंस रद्द कर दिए हैं। सरकार ने इन्हें बंद करने का कारण एफसीआरए कानून का उल्लंघन बताया है। देशभर में लगभग 33 हजार एनजीओ मौजूद हैं लेकिन अब 20 हजार के लाइसेंस रद्द होने के बाद सिर्फ 13 हजार एनजीओ ही मान्य रह गए हैं। इससे पहले भी 5 नवंबर 2016 को सरकार ने 11,000 से ज्यादा एनजीओ की मान्यता समाप्त कर दी थी। उन एनजीओ के लाइसेंस जून 2016 के अंत तक अपना रजिस्ट्रेशन रिन्यू कराने में विफल होने ... Read More »

बेवस बचपन, बे परवाह सरकार, किसी कि भीख या दया कि मोहताज़ नहीं ये जान

unnamed

अजय शर्मा, मुम्बई – इस तस्वीर ने यह साबित कर दिया कि माँ के बिना सन्सार अधुरा है और वो भूखे रहकर भी अपने बच्चों को पाल लेती है गरीबी और भूख वो चीज है जिसे कोइ नहीं बर्दाश्त कर सकता है गरीबी सहन हो सकती है लेकिन भूख के दर्द का एहसास इस तस्वीर से लगाया जा सकता है भारत आज़ाद हुए 70 वर्ष होने वाले हैं बच्चे देश का भविष्य हैं ऐसा किताबों में अध्ययन करने और सुनने को मिलता है चिल्ड्रंस डे भी मनाया जाता है नेता ... Read More »

‘पर्सनल लॉ बोर्ड मुसलमानों के प्रतिनिधि नहीं हैं और उनका रुख धार्मिक नहीं बल्कि राजनीतिक है’

vinay_zakia

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और कुछ दूसरे मुस्लिम संगठनों की ओर से तीन तलाक एवं समान आचार संहिता से जुड़ी विधि आयोग की प्रश्नावली के बहिष्कार का ऐलान किए जाने के बाद मुस्लिम महिला कार्यकर्ताओं ने बोर्ड और इन संगठनों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग मुसलमानों के प्रतिनिधि नहीं हैं और उनका रुख धार्मिक नहीं बल्कि राजनीतिक है। भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन की सह-संस्थापक जकिया सोमान ने कहा, ‘विधि आयोग ने सिर्फ तीन तलाक की बात नहीं कही है। उसने हिंदू महिलाओं के संपत्ति के ... Read More »

कल गांधी रो रहे थे…

rape

आज मैं आपको एक रहस्यमय बात बताना चाहता हूँ। धर्म, संस्कृति और विद्या की नगरी काशी के एक विद्यापीठ में राष्ट्र पिता महात्मा गांधी जी कल रो रहे थे। आप लोगों नें यह देखा नहीं और न ही सुना। क्योंकि अब आपकी आँखें ऐसे दृश्यों को देखते की क्षमता खो चुकीं हैं…. और कान, दिल की गहराई की आवाज को सुनने से परहेज करने लगे हैं। …… लेकिन बापू का इस तरह बिलखना, इस कौम के लिए हादसा है। बापू विलख रहे थे । वे फूट-फूट कर रो रहे थे ... Read More »

आईना-दर-आईना

d-m-mishra

उम्मीद की किरन मगर तलाशता हूं मैं कवि डी एम मिश्र के गजल संग्रह का विमोचन व परिसंवाद जन संस्कृति मंच की ओर से हिन्दी के चर्चित कवि डी एम मिश्र; सुल्तानपुरद्ध के नये गजल संग्रह ‘आईना-दर-आईना’ का विमोचन 15 सितम्बर 2016 को लखनऊ के जयशंकर प्रसाद सभागार, कैसरबाग में किया गया। कार्यक्रम का आरम्भ लोक गायिका व गजलकार डा. मालविका हरिओम के डी एम मिश्र की गजलों के सस्वर पाठ से हुआ। उन्होंने पहली गजल ‘मुहब्बत टूटकर करता हूं मगर अंधा नहीं बनता, खुदा से भी अपना प्यार इकतरफा नहीं ... Read More »

रक्षाबंधन के समान दूसरा त्योहार नहीं

dr.dm-mishra

मिश्री के समान मीठा , मखमल के समान मुलायम। रोली – कुमकुम के समान पावन। रेशम के समान मजबूत। पूर्णिमा के चाँद के समान दुलारा। प्यार से भी प्यारा। यदि कोई पर्व है तो वह है रक्षाबंधन। इसे राखी का भी त्योहार कहते हैं ।यह त्योहार भाई – बहन के पवित्र प्यार और भरोसे का प्रतीक तो है ही सामाजिक सद्भाव का भी द्योतक है।त्योहार तो बहुत हैं , पर रक्षाबंधन जैसा दूसरा नहीं ।जब एक बहन हृदय की अतल गहराइयों से अपने भाई के प्रति अपने प्रेम और उद्गार ... Read More »

आँगनबाड़ी इस तरह अभिशप्त क्यों

aganbadi

ले गये बच्‍चों के मुॅह का जो निवाला छीनकर आँकड़ों के खेल में वो प्रगतिवादी हो गये । जिस हथियार से जंग लड़नी हो यदि उसी में जंग लगा हो तो कोई क्या लड़ेगा। केन्द्र सरकार ने सातवें वेतन आयेाग की सिफ़ारिशें मान लीें जिससे केन्द्रीय कर्मचारियों के वेतन में अच्छा खासा इजाफ़ा हो गया। यह ख़बर जब अख़बारों में छपी तो आँगनबाड़ी वर्कर्स भी उसमें ख़ुद को तलाशते नज़र आये, क्योंकि उन्हें राज्य सरकारें , केन्द्र सरकार के परिवार में रखती हैं और केन्द्र सरकार कहती है कि आँगनबाड़ी राज्यों की सहायता ... Read More »

रचना–सार

ma-saraswati

माता सरस्वती को ध्यान से देखें ! माता के एक हाथ में पुस्तक है, एक हाथ में माला, और दो हाथों से माता ने वीणा थामी हुई है ! पुस्तक की साधना करने को हम विद्या कहते है ! साधारण बोल चाल की भाषा में पढाई कहते है ! हम ये भूल जाते है कि कला भी एक विद्या ही है जिसको साधने के लिए दुगनी साधना की आवश्यकता होती है ! माता ने वीणा को हृदय से लगाया हुआ है अतः इस तरह की कलाओं में पारंगत होने के ... Read More »

अनोखा जूनून

अनोखा जूनून

हौसला अगर बुलंद हो और दिल में कुछ कर गुजरने का जूनून, तो कोई भी मुकाम मुश्किल नहीं होता |गोरखपुर के एक साधारण इंसान के इस जूनून ने उसको उसकी मंजिल तक पहुचा दिया | दुर्लभ से दुर्लभ माचिस जिनको आपने पहले कभी नहीं देखा होगा | गोरखपुर के अलीनगर के रहने वाले एक आम आदमी की दास्ताँन जिसके जूनून को देख आपको यकीन नहीं होगा | अलीनगर निवासी कृष्णा चंद रस्तोगी मूल रूप से रेडीमेड कपड़ो के व्यवसाई है | उनकी माने तो वे रद्दी समानो को फेकते नहीं ... Read More »

शनि शिंगणापुर मंदिर में आज पूजा करने जायेंगी महिलाएं, टूटेगी सैकड़ों साल पुरानी परंपरा

sani-signapur

पुणे : पुणे के शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं की एंट्री पर कोर्ट के फैसले के बाद आज महिलाएं शनि मंदिर में पूजा करने जा रही है। भूमाता ब्रिगेड इसके लिए मंदिर की ओर रवाना हो गई है लेकिन महिलाओं को आज एंट्री मिलेगी या नहीं इसे लेकर अब भी सस्पेंस बरकार है। इससे पहले हाईकोर्ट के आदेश के बाद मंदिर प्रशासन की एक बैठक हुई जिसमें ये तय किया गया है कि जब तक मंदिर प्रशासन को अदालत के आदेश की कॉपी नहीं मिलती है तब तक पुरानी परंपरा ... Read More »