तेरी याद

नहीं, नहीं तुझे याद नहीं करता पाने के लिए,
तुझे तो याद करता हूँ बस भुला पाने के लिए…

काश तुमको भूल पाता मैं किसी भी तरह,
यूँ न याद करता तुम्हें भूल जाने के लिए…

दिल में बसा लिया था मैंने तुमको कुछ इस कदर,
रोक रखा था तुमको दिल की धड़कन बनाने के लिए…

सोचा था भूल जाऊँगा तुमको हमेशा के लिए,
तभी तो याद करता हूँ तुझे भूल जाने के लिए …

alka

– अलका श्रीवास्तव

 

You might also like

Leave a Reply