Sunday , 26 February 2017
Live

डराने के लिए डरना पड़ेगा

asfaqतजर्बा बर तरफ करना पड़ेगा !
डराने के लिए डरना पड़ेगा !!

मुहब्बत इक पुरानी पेंटिंग है !
कलर पर फिर कलर करना पड़ेगा !!

तुझे तो ऐन्ड तक जीना है लेकिन !
मुझे इस सीन में मरना पड़ेगा !!

तुम्हारी आँख में इक झील है ना !
इसी के बाद इक झरना पड़ेगा !!

दिए मुँह ज़ोर होते जा रहे हैं !
हवा से राब्ता करना पड़ेगा !!

– अशफ़ाक़ रशीद

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*