पाकिस्‍तान ने अंतरराष्‍ट्रीय नियमों का हनन किया, जाधव को बचाने की पूरी कोशिश की जाएगी- विदेश मंत्रालय

नई दिल्‍ली: गुरुवार को भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर अंतरराष्‍ट्रीय अदालत के आदेश को लेकर भारत की तरफ से कहा गया कि यह जाधव को न्‍याय दिलाने की दिशा में पहला कदम है। साथ ही भारत ने यह भी दोहराया कि पाकिस्‍तान ने जाधव के अधिकारों और अंतरराष्‍ट्रीय नियमों का हनन किया है और उसे बचाने की पूरी कोशिश की जाएगी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता गोपाल बागले ने अंतरराष्‍ट्रीय अदालत के फैसले के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने संसद को आश्‍वस्‍त किया है कि सरकार वह हर संभव प्रयास करेगी, जिससे जाधव को न्‍याय मिले और उनके जीवन की रक्षा की जा सके। आज किए गए ट्वीट में भी मंत्री ने इसी बात को दोहराया।

बागले ने कहा कि आज अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट ने भारत के अनुरोध पर दिए गए आदेश में पाकिस्‍तान को निर्देश दिए हैं कि वह ऐसे सारे कदम उठाए, जोकि इस मामले में संभव है। जाधव को पाकिस्‍तान की सैन्‍य अदालत सुनाया गया मत्‍युदंड तक तक क्रियान्वित नहीं किया जाएगा, जब कोर्ट का अंतिम फैसला नहीं आता। साथ ही कोर्ट ने पाकिसतान से कहा है कि वह बताए कि इस आदेश को लागू करने के लिए उसने क्‍या कदम उठाए हैं।

उन्‍होंने कहा, हम इस आदेश को इय नजरिये से देखते हैं कि पाकिस्‍तान ने जाधव के अधिकार और अंतरराष्‍ट्रीय नियमों का जो हनन किया है, उसे सही करने की दिशा में यह पहला कदम है। आशा है कि पाकिस्‍तान इस पर अमल करे। कोर्ट के इस आदेश से भारत ने राहत की सांस ली है। हमें उम्‍मीद है कि पाकिस्‍तान अंतरराष्‍ट्रीय अदालत के आदेश का सम्‍मान करेगा।