मैंने दिया AAP को 2 करोड़ का चंदा, 3 साल बाद चंदा देने वाला आया सामने, देखें- कैसे निकली कपिल मिश्रा के दावे की हवा

आम आदमी पार्टी (आप) पर फर्जी कंपनियों से दो करोड़ रुपये चंदा लेने के मामले में नया मोड़ आ गया है। चंदा देने के तीन साल बाद पहली बार एक शख्स सामने आया है जिसने यह कबूल किया है कि उसने ही पचास-पचास लाख रुपये का डिमांड ड्राफ्ट बनाकर आम आदमी पार्टी को चंदा दिया था। नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के गंग विहार इलाके के निवासी मुकेश शर्मा ने एनडीटीवी से खास बातचीत में कबूल किया है कि उन्होंने ही अप्रैल 2014 में आप को 2 करोड़ रुपये बतौर चंदा दिया था। मुकेश ने यह भी कहा कि उनकी कंपनियां फर्जी नहीं है लेकिन वो राजनीतिक विवाद में नहीं पड़ना चाहते थे, इसीलिए उन्होंने उस वक्त अपनी बात सबके सामने नहीं कही।

मुकेश ने यह भी बताया है कि उन्होंने न तो कभी अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की है और न ही वो उन्हें जानते हैं। उन्होंने कहा कि उनकी मुलाकात आप के खजांची संजू और सचिव पंकज गुप्ता से हुई थी। मुकेश ने कहा कि उन्होंने आप को 2 करोड़ रुपये चंदा इसलिए दिए था क्योंकि उन्हें लगता था कि ये लोग राजनीति में कुछ अच्छा और नया करने आए हैं।

बता दें कि दिल्ली के बर्खास्त मंत्री कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया था कि आम आदमी पार्टी ने फर्जी कंपनियों से दो करोड़ रुपये चंदा लिए हैं। उन्होंने कहा था कि चंदा देने वाले न तो किसी शख्स का अता-पता है और न ही तथाकथित दानदाता कंपनियों का कुछ पता है। इसबीच सामने आए शख्स मुकेश ने बताया कि उनकी कंपनी फर्जी नहीं है। उनकी चार कंपनियां हैं जो कर्ज लेने-देने और जमीन खी खरीद-बिक्री का कारोबार करती है। मुकेश ने बताया कि उनकी कंपनियों के नाम हैं- स्काई लाइन मेटल एंड अलॉय प्राइवेट लिमिटेड, सनविजन एजेंसीज प्राइवेट लिमिटेड, इन्फोलेन्स सॉफ्टवेयर सॉल्यूशंस लिमिटेड और गोल्डमाइन एंड बिल्डकॉन प्राइवेट लिमिटेड।

गौरतलब है कि कपिल मिश्रा ने मंगलवार (16 मई) को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आम आदमी पार्टी (आप) के चंदे में हेरा-फेरी, फर्जी कंपनियों के माध्यम से काले धन को सफेद करने और धन शोधन का मामला दर्ज कराया है। मामला दर्ज कराने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कपिल मिश्रा ने कहा, ‘अरविंद केजरीवाल द्वारा काले धन का जो भी काम किया गया है, चंदे में हेराफेरी की गई है, जिस तरह से उनके दो विधायकों की कंपनी का बहुत सारी फर्जी कंपनियों से लिंक साबित हुआ है जो काले को सफेद करने का काम कर रही थीं, वो सारे दस्तावेज और सबूत आज सीबीआइ को सौंपे हैं। कपिल ने केजरीवाल पर लगाए अपने आरोपों को दोहराते हुए कहा, ‘जो व्यक्ति हिंदुस्तान की राजनीति में भ्रष्टाचार से लड़ने आया था, जो कहता था कि मैं केवल जनता के पैसे से चुनाव लड़ूंगा, किसी बड़े आदमी से पैसा नहीं लूंगा, 10-10 रुपए चंदा लेकर चुनाव लड़ूंगा, उस व्यक्ति का सच सामने आ गया है